Breaking News

मूक-बधिर छात्रा से दुष्कर्म मामला : CM ने जताया अफसोस, कमलनाथ बोले- ‘मामा तो नृत्य में मस्त है’

भोपाल : मूक बधिर छात्रा से दुष्कर्म मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बयान आया है। उन्होंने कहा कि इस घटना से मन बहुत व्यथित है। आरोपी को कड़ी सजा दिलाने का प्रयास किया जाएगा।

सीएम ने अधिकारियों को दिए निर्देश
घटना सामने आने के बाद सीएम ने भोपाल में मुख्य सचिव और डीजीपी के साथ बैठक की। उन्होंने अफसरों को निर्देश दिए कि आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा मिले, इसके लिए तत्काल कार्रवाई आगे बढ़ाई जाए। सीएम ने प्रदेश के अनाथालयों की नियमित मॉनिटरिंग के निर्देश भी दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि लड़कियों के हॉस्टल का भी हर महीने निरीक्षण किया जाए। वहीं, सरकार अब अनाथालय और प्राइवेट हॉस्टल के लिए भी नियम बनाएगी।

मामा डांस करने में व्यस्त हैं- कमलनाथ
वहीं, मामले पर कमलनाथ ने सीएम शिवराज को आढ़े हाथों लेते हुए कहा कि प्रदेश में घिनौने कृत्य हो रहे हैं और मामा नृत्य में व्यस्त है। पहले ही रेप के मामले में मध्यप्रदेश सबसे अव्वल है, अब यहां बालिका गृह भी सुरक्षित नहीं हैं। बिहार के मुजफ्फरपुर और यूपी के देवरिया के बाद मध्य प्रदेश में भी इस तरह की घटना से प्रदेश शर्मसार हुआ है। उन्होंने मांग की कि प्रदेश सरकार सभी हॉस्टल्स की जांच कराए और बच्चियों को सुरक्षा दे।

हॉस्टल्स की मॉनिटरिंग की कमी’
महिला एवं बाल विकास मंत्री माया सिंह ने पूरे मामले को शर्मसार करने वाला बताया। मप्र बाल अधिकार एवं संरक्षण आयोग ने कहा कि हॉस्टल्स की मॉनिटरिंग की कमी है और इस वजह से ऐसी जघन्य वारदात हुई। माया सिंह ने कहा कि तमाम कानून और दोषियों को फांसी की सज़ा होने के बाद भी इस तरह की घटनाएं हो रही हैं, ये काफी दुखद है।

बाल आयोग के अध्यक्ष राघवेन्द्र शर्मा ने कहा कि हॉस्टल्स की मॉनिटरिंग की कमी है। यही वजह है कि इस तरह के अपराध हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि संबंधित विभागों को निर्देश दिया जा रहा है। साथ ही पुलिस से कहा गया है कि वो सख्त कार्रवाई करे और हॉस्टल की सभी छात्राओं के बयान ले।

About Anil Gupta

Check Also

भोपाल में एशिया की सबसे बड़ी ताजुल मसजिद में फहराया राष्ट्रध्वज

भोपाल ।राहुल गुप्ता भोपाल में 72 वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न हर्षोल्लास के साथ मनाया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *