एस्सार कंपनी का ऐशडाइक डैम ने मचाई भारी तबाही

0
5

डैम के टूटने से कर्सुआलाल गांव की फसलें चौपट, दो रहायसी मकान जमींदोज, ग्रामीणों की मदद के लिए आधी रात तक चला रेस्क्यू, घटना स्थल पर कलेक्टर,एसपी,एएसपी,एसडीएम पहुंचे

न्यूज ब्यूरो
अभिषेक शर्मा
इन्दौर
सिंगरौली 8 अगस्त। एस्सार पावर कंपनी बंधौरा के प्रबंधन की लापरवाही एक बार फिर दिखी है। हुआ यंू कि बीती रात एस्सार का ऐशडाइक डैम  के फूट जाने से कर्सुआलाल गांव में भारी तबाही हुई है। दो मकान  जमींदोज हो गये और कईयों में ऐशडाइक का राखड़ व पानी घुस गया। जिससे घर के अंदर फसे लोगों को स्थानीय ग्रामीण एवं पुलिस ने रेस्क्यू चलाकर पांच बच्चों को बचाने में सफल रहे।

जानकारी के अनुसार कर्सुआलाल के बार्डर खैराही मेंं एस्सार पावर बंधौरा ने ऐशडाइक  डैम का निर्माण किया है। बुधवार की रात करीब 9.30 बजे अचानक एस्सार का ऐशडाइक डैम फूट गया और उसके फूटते ही कर्सुआलाल गांव में तबाही मच गयी। देखते ही देखते कर्सुआलाल गांव राखड़ व पानी में जलजला नजर आने लगा। आलम यह रहा कि डैम का राखड़ व पानी गोपालदास जायसवाल व अनुज जायसवाल सहित कई घरों में घुस गया। साथ ही इन्हीं दोनों के रहायसी मकान भी जमींदोज हो गये। इस घटना की खबर कर्सुआलाल समेत आस-पास के गांवों में आग की तरह फैल गयी और बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए पुलिस व प्रशासन को सूचना देते हुए सरपंच संतोष जायसवाल, बंधौरा सरपंच आशीष कुमार शुक्ला, बंधौरा आरक्षक दिनेश दोहरे, प्रधान आरक्षक तीरथ सिंह, ग्रामीण युवक राजेश उपाध्याय, वीरेन्द्र गुप्ता, राजू तिवारी व अन्य ग्रामीण रेस्क्यू ऑपरेशन में लग गये। जहां अनुज जायसवाल के छोटे-छोटे पांच बच्चे फसे थे उन्हें बचाने में सफल रहे। इधर घटना की खबर मिलते ही स्थानीय व जिला प्रशासन मौके पर पहुंच बचाव कार्य में जुट गये। करीब आधी रात तक जिले के आला अफसर कर्सुआलाल व खैराही गांव में हालात का जायजा लेते रहे।

०००००००

तीन किमी दूरी तक की फसलें पूरी तरह से तबाह

एस्सार पावर का ऐशडाइक डैम के फूटने से कुर्सआलाल समेत खैराही गांव की फसलें करीब-करीब पूरी तरह से चौपट हो गयी हैं। हालांकि इसका असर सबसे ज्यादा कर्सुआलाल गांव में हुआ है। प्रशासन के अनुसार राखड़ पांच से सात किमी दूर तक जमा हुआ है। लेकिन सबसे ज्यादा फसलों व खेतों का नुकसान कर्सुआलाल में हुआ है। करीब 3 किलोमीटर दूरी तक राखड़ ही राखड़ व बांध का पानी नजर आ रहा है।  यहां की फसलें अरहर, तिली, उड़द, धान पूरी तरह से चौपट हो गयी हैं। पड़ती खेतों में भी राखड़ व लबालब पानी जमा होने से उक्त खेतों का भविष्य भी चौपट है।

०००००००

घटना स्थल पर पहुंचे कलेक्टर,एसपी, एसडीएम

ऐशडाइक डैम के फूटने की खबर मिलते ही कलेक्टर केवीएस चौधरी,एएसपी प्रदीप शेन्डे,माड़ा एसडीएम विकास सिंह, तहसीलदार दिवाकर सिंह, सीएसपी अनिल सोनकर, विन्ध्यनगर टीआई मनीष त्रिपाठी, नवानगर टीआई यूपी सिंह, माड़ा थाना प्रभारी,चौकी प्रभारी बन्धौरा सरनाम सिंह बघेल,खुटार चौकी प्रभारी नीरज सिंह चौहान सहित भारी संख्या में पुलिस बल पहुंच आधी रात तक घटना स्थल पर मौजूद रहते हुए बचाव व राहत कार्य में जुटे रहे। वहीं डैम के चपेट में आये एक दर्जन से ऊपर ग्रामीणों को पंचायत भवन कर्सुआलाल में राहत  शिविर बनाया गया है। जहां पंचायत उनकी देख-रेख कर रही है।

०००००००

 इनका कहना है

एस्सार पावर का ऐशडाइक डैम फूट गया है खेतों में फसलों को नुकसान पहुंचा है, किन्तु राहत की बात रही कि कोई जनहानि नहीं हुई है। एसडीएम सर्वे कर रहे हैं इसमें लापरवाही यदि मिली तो प्रबंधन के खिलाफ की जावेगी।

अभिजीत रंजन, पुलिस अधीक्षक सिंगरौली

फसलों को हुई है भारी क्षति- माड़ा एसडीएम विकास सिंह ने कहा कि घटना के दूसरे दिन ऐशडाइक डैम के फूटने से नुकसान हुए फसलों, खेतों व मकानों का सर्वे कार्य चल रहा है। कम से कम दो से तीन दिन का वक्त लगेगा। डेढ़ सौ मीटर लंबा डैम फूटा है जिसके चलते दो मकान ध्वस्त हो गये हैं। साथ ही दो मकानों में राखड़ व पानी जमा हो गया है।

००००००००

  प्रभावितों को शीघ्र मिले मुआवजा: आशीष

बंधौरा सरपंच आशीष कुमार शुक्ला ने बताया कि एस्सार के ऐशडाइक डैम के फूटने से तीन गांवों की फसलों व कुछ मकानों को नुकसान हुआ है। जिसमें सर्वाधिक नुकसान कर्सुआलाल में दिख रहा है। उन्होंने कहा कि इस तबाही से फसलों, मकान, पेंड़-पौधे, जमीन, कुआं आदि का सर्वे कराकर प्रभावितों को शीघ्र राहत राशि पहुंचायी जाय। उन्होंने कलेक्टर एवं एसडीएम से प्रभावितों को शीघ्र मुआवजा दिलाये जाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here