टोंक- स. मा. (अजय शेखर शर्मा) -आजादी के बाद मिले सारे मूलभूत अधिकार : कर्नल चौधरी

0
47

झिलाय.  टोंक  जिले के झिलाय बस स्टैण्ड स्थित राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में मंगलवार को 73 वें स्वतंत्रता दिवस को दीपोत्सव के रूप में मनानें को लेकर ग्राम के सरकारी व गैर सरकारी विद्यालयों के छात्र-छात्राओं व स्थानीय ग्रामीणों द्वारा विशाल जन जागृति रैली का आयोजन किया गया। मंगलवार की प्रात: 9 बजें ग्राम पंचायत के सरकारी व गैर सरकारी विद्यालयों के छात्र-छात्राएं बस स्टैण्ड स्थित राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में एकत्रित हुए जो धीरें-धीरें एक विशाल जनसमूह के रूप में तब्दील हो गया। जन जागृति रैली को मुख्य अतिथि सेवानिवृत कर्नल राजाराम चौधरी, विशिष्ट अतिथि केप्टीन गोविन्दराम सैनी, सेवानिवृत बैंक मैनेजर दीपक डंगायच व रैली के अध्यक्ष सरपंच भंवरलाल यादव ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। रैली भारत माता के जयकारें, इंकलाब जिन्दाबाद, वन्दे मातरम, जय हिन्द, जय जवान, जय किसान के नारे लगाते हुए सीनियर हायर सैकेण्डरी विद्यालय से रवाना होकर गांव के बस स्टैण्ड, बापू बाजार, निवाई दरवाजा, तेजाजी का चौक, गोपाल जी का मंदिर, खातियान मौहल्ला, पंचायत भवन, घाटीवालें भैरूजी के मंदिर, किलें के नीचें से होते हुए बंशीवारें के
मंदिर, पुराने बैंक, सरस्वती स्कूल, बैंक ऑफ  बडौदा के सामनें से निवाई-बौंली रोड बस स्टैण्ड होती हुई वापस विद्यालय में पहुंची। इससें पूर्व ज्यौही रैली गांव के मुख्य मार्गो से गुजरी तो ग्रामीणों द्वारा रैली को जगह-जगह रोककर पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। इसके पश्चात रैली का समापन समारोह राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में विचार गौष्ठी का आयोजन भी किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि सेवानिवृत कर्नल राजाराम चौधरी ने छात्र-छात्राओं व उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि ब्रिटिश शासन से 15 अगस्त 1947 में भारत को स्वतंत्रता मिली। आजादी के बाद हमे अपने राष्ट्र और मातृभूमि में सारे मूलभूत अधिकार मिले, हमे अपने भारतीय होने पर गर्व होना चाहिए, और सौभाग्य की प्रशंसा करनी चाहिए। विशिष्ट अतिथि केप्टीन गोविन्दराम सैनी ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस को बहुत खुशी के साथ पूरे भारत में एक साथ मनाया जाता है, यह सभी भारतीयों के लिए बेहद महत्वपूर्ण दिन है। उन महान स्वतंत्रता सैनानियों को याद करने का जिन्होने हमें एक शान्तिपूर्ण और खुबसूरत जीपन देने के लिए अपने जीवन का बलिदान व कुर्बानियां दी। सेवानिवृत बैंक मैनेजर दीपक डंगायच ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम में कई महान स्वतंत्रता सैनानियों ने संघर्ष किया और अपने पूरे जीवन को आजादी के लिए दे दिया, हम सब कभी भी भगतसिंह, खुदीराम बौस, चन्द्रशेखर आजाद, महात्मा गांधी को नही भूल सकते जिन्हौने बहुत कम आयु में देश के लिए लडते हुए अपनी जांन गंवा दी। जिन्होने भारतीयों को अंहिसा का पाट पढाया था। इस अवसर पर रैली के संयोजक व अध्यक्ष सरपंच भंवरलाल यादव ने अपने उद्बोधन राष्ट्र प्रेरित कविता हम आजाद है, यह आजादी कभी छिननें नही देंगे, तिरंगे की शान को हम कभी मिटने नही देंगे, कोई आंख भी उठाएगा जो हिन्दुस्तान की तरफ उन आंखों के फिर दुबारा दुनियां देखने नही देंगे। इस दौरान सभी ग्रामीणों से अपील करते हुए 15 अगस्त के दिन को दीपोत्सव के रूप में अपने-अपने घरों में दीपक जलाकर आजादी के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वालें शहीदों को सच्ची श्रद्धांजली होगी। बैंक ऑफ  बडौदा के शाखा प्रबंधक योगेन्द्र मीणा ने कहा कि भारत की आजादी मुमकिन हो सकी क्योकि सहयोग, बलिदान और सभी भारतीयों की सहभगिता थी और हमें आज कसम खानी चाहिए कि कल के भारत के शिक्षित एवं जिम्मेदार नागरिक बनेंगे। हमे गंभीरता से अपने कर्तव्यों को निभाना चाहिए और लक्ष्य प्राप्ति के लिए कडी मेहनत करनी चाहिए। इस दौरान प्रधानाचार्या सुशीला करनाणी, डॉ. आकाश सोनी, बालिका विद्यालय के प्रधानाचार्य महेन्द्र कुमार जैन, रामपाल सिंगवाडियां, भूतपूर्व सरपंच लालाराम खटीक, षारीरिक षिक्षक मोहन लाल निराला, ग्राम रोजगार सहायक मांगीलाल खटीक, सुरेश शर्मा डीलर, धमैन्द्र कुमार जैन, कजोड मल शर्मा, वार्डपंच ममता विजय, हीरालाल कसाणा, उपसरपंच रामगोपाल विजय, सुरेश विजय, प्रहलाद चौधरी, अमित विजय, व्यापार मण्डल सचिव राकेश विजय, श्रीनारायण साहू, पूर्व पंचायत समिति सदस्य सुरेश नायक, रामेश्वर गुर्जर समेत ग्राम के कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here