6 महीने में पहली बार घटी खुदरा महंगाई, जुलाई में घटकर 3.15 फीसदी पर आई

0
8

नई दिल्लीः जुलाई महीने में खुदरा महंगाई में पिछले छह महीनों में राहत मिली है। ईंधन और बिजली सस्ता होने से उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित खुदरा महंगाई जुलाई में मामूली घटकर 3.15 फीसदी हुई। हालांकि खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर में वृद्धि हुई है। सरकार द्वारा जारी आंकड़े के अनुसार उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित खुदरा महंगाई दर जून में 3.18 फीसदी तथा पिछले साल जुलाई में 4.17 फीसदी थी।
सब्जियों की महंगाई दर घटी
सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय के तहत आने वाले केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय के आंकड़े के अनुसार खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर जुलाई में 2.36 प्रतिशत रही जो इससे पूर्व महीने में 2.25 फीसदी से थोड़ा अधिक है।

  • सब्जियों की महंगाई दर आलोच्य महीने में कम होकर 2.82 फीसदी रही जबकि जून में इसमें 4.66 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी।
  • दाल और उसके उत्पादों की कीमतों में जुलाई महीने में 6.82 फीसदी की वृद्धि हुई जबकि इससे पिछले महीने जून में यह 5.68 फीसदी थी।
  • फलों के मामले में कीमत में तेजी की प्रवृत्ति रही। इस खंड में महंगाई दर आलोच्य महीने में शून्य से 0.86 प्रतिशत नीचे रही जबकि एक महीने पहले इसमें 4.18 फीसदी की गिरावट आई थी।
  • मांस और मछली जैसे प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों की महंगाई दर इस साल जुलाई में 9.05 फीसदी रही जो जून के 9.01 फीसदी के लगभग बराबर है।
  • अंडों के मामले में महंगाई दर घटकर 0.57 फीसदी पर आ गई जबकि इससे पिछले महीने जून में यह 1.62 फीसदी थी।
  • ईंधन और बिजली की श्रेणी में कीमतों में जुलाई महीने में 0.36 फीसदीत की गिरावट आई जबकि इससे पूर्व महीने में इसमें 2.32 फीसदी की तेजी आई थी।

6 महीने में पहली बार घटी महंगाई
जानकारों के अमुसार उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई में मामूली गिरावट का कारण ईंधन और बिजली के दाम में कमी है। यह स्थिति तब है जब खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़े हैं। कुछ राज्यों में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए खाद्य वस्तुओं के दाम की प्रवृत्ति पर सतर्कता पूवर्क ध्यान देने की जरूरत है। इससे सब्जियों के दाम चढ़े हैं और खरीफ फसलों की की बुवाई में देरी हो रही है। खुदरा महंगाई में पिछले छह महीनों में राहत मिली है। फरवरी में खुदरा महंगाई 2.57 फीसदी, मार्च में 2.86 फीसदी, अप्रैल में 2.99 फीसदी, मई में 3.05 फीसदी और जून में 3.18 फीसदी रही थी। 6 महीने बाद जुलाई में यह घटकर 3.15 फीसदी हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here