MP में मचे सियासी घमासान के बीच सोनिया गांधी का कड़ा रुख, अनुशासनहीनता पर छीन जाएगी कुर्सी

0
4

भोपाल: मध्य प्रदेश कांग्रेस में मचे सियासी घमासान और नेताओं के बीच बयानबाजी को लेकर पार्टी की किरकिरी होने के बाद अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सख्त रुख अपना लिया है। दिग्विजय और उमंग विवाद को अनुशासन समिति को सौंपने के बाद सोनिया गांधी ने प्रदेश के नेताओं के लिए नई गाइड लाइन जारी की है। जिसमें कहा गया है कि अगर किसी नेता ने दूसरे नेता पर बिना किसी ठोस प्रमाण के आरोप लगाए तो उसे पद से हटा दिया जाएगा, चाहे वह कद में बड़ा हो यह छोटा।

सूत्रों के मुताबिक मप्र में मचे घमासान और अनुशासनहीनता को देखते हुए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी के लिए नई एडवाइजरी जारी की है। जिसके बाद यदि कोई कांग्रेसी नेता बिना किसी प्रमाण के एक दूसरे पर आरोप लगाते हैं तो उनसे पद से हटा दिया जाएगा, चाहे वह कद में बड़ा हो या छोटा। सोनिया की इस एडवाइजरी के बाद नेताओं में हलचल मच गई है, हर कोई विवादित बयान देने से बच रहा है।

इस संबंध में सोनिया गांधी की बात सीएम कमलनाथ और प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया से भी हो चुकी है। वहीं उमंग सिंघार विवाद मामले को अनुशासन समिति के अध्यक्ष एके एंटोनी को सौंप दी गई है। उन्हें दो सप्ताह के अंदर रिरोर्ट सौंपने को कहा गया है। एंटोनी भी मामले से जुड़े सभी पक्षों से बात कर रहे हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि रिपोर्ट आने के बाद उमंग सिंघार पर बड़ी कार्रवाई हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here