इनेलो के पांच विधायकों की सदस्यता रद्द, JJP का समर्थन करना पड़ा महंगा

0
2

चंडीगढ़. इनेलो छोड़ जननायक जनता पार्टी (Jan nayak janta party) और कांग्रेस (Congress) का दामन थामने वाले चार विधायकों (MLA) को उनका यह फैसला महंगा पड़ गया. विधानसभा स्पीकर ने इन पांचों विधायकों की सदस्यता को रद्द कर दी है. विधानसभा स्पीकर कंवरपाल गुर्जर ने इस मसले पर मंगलवार को व्‍यवस्‍था देते हुए इनेलो के पांचों विधायकों नरवाना से पिरथी सिंह नंबरदार, दादरी से राजदीप फौगाट, डबवाली से नैना सिंह चौटाला, उकलाना से अनुप धानक और फिरोजपुर झिरका से नसीम अहमद को सदन की सदस्‍यता से अयोग्य करार दे दिया है. बता दें कि ये पंचों विधायक पहले ही इस्‍तीफा दे चुके हैं, जिन्हें स्वीकार भी कर लिया गया था.

इस फैसले के बाद अब इन विधायकों को अयोग्य घोषित होने की तिथि से लेकर इनके इस्तीफा देने की तिथि तक के अपने वेतन और भत्ते लौटाने होंगे. बता दें कि इनेलो विघटन के बाद इनेलो के सिंबल से लड़ने वाले चार विधायकों का झुकाव डॉक्‍टर अजय चौटाला की जननायक जनता पार्टी की ओर हो गया था. इन चारों विधायकों ने जजपा का खुला समर्थन करते हुए इनेलो के खिलाफ बगावती सुर दिखाने शुरू कर दिए थे.

चारों विधायकों को दिया था बागी करार

ये चारों विधायक अभी औपचारिक रूप से इनेलो सिंबल पर ही विधायक थे. इनेलो के विधायक और पूर्व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने पिछले दिनों स्पीकर को शिकायत पत्र भेजकर इन चारों विधायकों को बागी करार देते हुए चारों के खिलाफ दलबदल एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए उनकी विधानसभा सदस्यता रद करने की मांग की थी.

25 मार्च को दायर की थी याचिका

इनेलो के एक अन्य विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया ने भी इसी संदर्भ में 25 मार्च 2019 को एक याचिका भी विधानसभा में दायर कर दी थी. बाद में दौलतपुरिया भी इनेलो छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर गए थे. दौलतपुरिया के भाजपा में जाने के बाद इनेलो विधायक अभय चौटाला ने भी 26 जुलाई 2019 एक एप्लीकेशन देकर इस याचिका को आगे बढ़ाया, जिसपर विधानसभा स्पीकर ने मंगलवार को फैसला सुनाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here