ग्रहण के दौरान किन कामों को करना वर्जित है

2019 का पहला खण्डग्रास सूर्य ग्रहण 6 जनवरी को लगने वाला है। ग्रहण के समय चंद्रमा धनु राशि और मूल नक्षत्र में होगा। आज यानि 5 जनवरी की शाम 05:04 पर ग्रहण का सूतक लगेगा। मोक्ष काल सुबह 09:18 पर होगा। ग्रहण का प्रभाव कल सुबह 05:04 पर होगा। बहुत से लोग ग्रहण को मात्र एक खगोलीय घटना ही मानते हैं और इसमें किसी भी प्रकार की सावधानी बरतने को अंधविश्वास या दकियानूसी करार देते हैं। यह उनकी मान्यता हो सकती है परंतु वैज्ञानिक दृष्टि से भी ग्रहण के समय रेडिएशन के कारण आंखों, रक्त संचार, रक्त चाप और खाद्य पदार्थों पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। जब ग्रहण का सूतक लगता है तो उस दौरान कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए जानें ग्रहण पर क्या करें क्या नहीं-

घर में जितनी भी खाने-पीने की चीज़े हैं, उनमें कुश या दूब डाल कर रखनी चाहिए।

संक्रमण से बचने के लिए तुलसी का प्रयोग भी कर सकते हैं।

रसोई में खाना नहीं बनाना चाहिए।

ग्रहण के दौरान मन्दिर में पूजा-पाठ नहीं करनी चाहिए, मंत्रों का उच्चारण किया जा सकता है।

कुछ भी खाना-पीना नहीं चाहिए।

संभोग नहीं करना चाहिए।

खुले में खाद्य सामग्री न रखें।

ग्रहण लगने से पहले और दो दिन बाद तक के संक्रमण काल में कोई भी शुभ अथवा महत्वपूर्ण काम, विवाह, निर्माण, नए व्यवसाय का आरंभ, सगाई, लंबी अवधि का निवेश, मकान का सौदा या एडवांस आदि काम नहीं करने चाहिए क्योंकि उनके सफल होने में संदेह रहता है।

सूर्यदेव के इन मंत्रों का जाप करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। ग्रहण से संबंधित किसी भी तरह की नेगेटिविटी का प्रभाव नहीं पड़ता। मंत्र- ‘ॐ ह्रां ह्रीं हौं स: सूर्याय नम:, ऊँ घृणिः सूर्याय नमः

About Anil Gupta

Check Also

जब गुरुवार को पड़ जाए प्रदोष तो ये होने वाला है आपके साथ !

गुरुवार दिनांक 20.12.18 मार्गशीर्ष शुक्ल त्रयोदशी पर गुरु प्रदोष का पर्व मनाया जाएगा। शिव को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *