भारत को मिला ‘चिनूक’, US ने इसी से PAK में घुसकर किया था लादेन का खात्मा

अमेरिकी एयरोस्पेस कंपनी बोईंग ने रविवार को भारतीय वायुसेना के लिए 4 चिनूक सैन्य हेलीकॉप्टरों की आपूर्ति गुजरात में मुंद्रा बंदरगाह पर की. इन हेलिकॉप्टरों के वायुसेना में शामिल होने के बाद देश की सुरक्षा प्रणाली को मजबूती मिली है. यह वही हेलीकॉप्टर हैं जिनकी मदद से अमेरिका ने आतंकी सरगना लादेन को पाकिस्तान में घुसकर मार गिराया था.भारतीय वायुसेना अभी तक काफी हद तक रूसी Mi-17 जैसे मिडियम श्रेणी के लिफ्ट हेलिकॉप्टरों पर आश्रित थी, लेकिन चिनूक के आने से मजबूती मिलेगी. अभी कुछ समय पहले ही इन हेलिकॉप्टरों के इस्तेमाल के लिए वायुसेना को ट्रेनिंग भी दी गई थी. इस हेलिकॉप्टर में एक बार में गोला बारूद, हथियार के अलावा 300 सैनिक भी जा सकते हैं.हेवीलिफ्ट चिनूक पुराने पड़ चुके MI 26 की जगह लेंगे. वायुसेना के चार पायलट और चार इंजीनियर अमेरिका के डिलेवर में चिनूक हेलीकॉप्टर को चलाने की ट्रेनिंग कर चुके हैं. इन सीएच47एफ (आई) चिनूक हेलिकॉप्टरों को चंडीगढ़ ले जाया जाएगा, जहां उन्हें औपचारिक तौर पर भारतीय वायुसेना में शामिल किया जाएगा. चिनूक बहुद्देशीय, वर्टिकल लिफ्ट प्लेटफॉर्म हेलिकॉप्टर है जिसका इस्तेमाल युद्ध के दौरान या सामान्य स्थिति में सैनिकों, हथियारों, उपकरण और ईंधन को ढोने में किया जाता है. इसका इस्तेमाल मानवीय और आपदा राहत अभियानों में भी किया जाता है. राहत सामग्री पहुंचाने तथा बड़ी संख्या में लोगों को बचाने में भी इसका उपयोग किया जा सकता है. सीएच-47 एफ (आई) चिनूक एक उन्नत मल्टी-मिशन हेलीकॉप्टर है, जो भारतीय सशस्त्र बलों को मजबूत करेगा. बयान में कहा गया है, ‘सीएच-47एफ (आई) चिनूक उन्नत बहुद्देशीय हेलिकॉप्टर है जो भारतीय सशस्त्र बलों को युद्ध और मानवीय मिशन के दौरान अतुलनीय रणनीतिक एयरलिफ्ट की क्षमता मुहैया कराता है. भारतीय वायुसेना ने वर्तमान में 15 चिनूक हेलिकॉप्टर का ऑर्डर दे रखा है.’

About Anil Gupta

Check Also

कोलकाता पुलिस प्रमुख से 11 घंटे तक पूछताछ, आज फिर होंगे सीबीआई के सामने पेश

शिलांग : कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार को चिटफंड घोटाले से संबंधित मामलों में पूछताछ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *