35 हजार रुपए की रिश्वत, 2000 रुपए लेते रंगे हाथों पकड़ा गया बीएड कॉलेज का डायरेक्टर

मीनाक्षी पारीक 

जयपुर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने सोमवार को दौसा जिले में बड़ी कार्रवाई करते हुए टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज के डायरेक्टर को 2,000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई एसीबी जयपुर प्रथम के प्रभारी एडिशनल एसपी देशराज यादव के निर्देशन में इंस्पेक्टर सचिन और उनकी टीम ने की। एएसपी देशराज यादव ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी सुनील कुमार शर्मा है। वह दौसा जिले के रामगढ़ पचवारा गांव में एसकेडी टीचर्स ट्रेनिंग महिला कॉलेज में डायरेक्टर है। उसने रिश्वत में 35 हजार रुपए मांगे थे। इनमें 24 हजार रुपए पहले ले चुका था।एएसपी यादव के मुताबिक इस संबंध में सुनील के कॉलेज की एक छात्रा सीता सैनी ने एसीबी मुख्यालय में शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि वह आरोपी के कॉलेज से बीएड कर रही है। उसके जीजाजी का देहांत होने पर वह एक महिने से कॉलेज नहीं आ सकी थी।जब वह कॉलेज पहुंची। तब कॉलेज के डायरेक्टर सुनील शर्मा ने सीता की अनुपस्थिति को छिपाने और लेसन के अलॉटमेंट की एवज में 35 हजार रुपए मांगे। आर्थिक रुप से कमजोर होने पीड़िता के कुल छह भाई बहन है। जिनका वह खुद सिलाई कर परिवार का पेट पालती है। उसका पति पतासी का ठेला लगाता है।ऐसे में रुपयों का इंतजाम करने के लिए पीड़िता सीता सैनी ने 3 रुपए सैंकड़ा के हिसाब से 24 हजार रुपए ब्याज पर लेकर रिश्वत की रकम डायरेक्टर सुनील शर्मा को दी। पीड़िता का आरोप है कि इसके बाद भी कॉलेज के डायरेक्टर सुनील ने उससे 2000 रुपए और मांग रहा था। तब उसने एसीबी को शिकायत दी।जिसका सत्यापन करने के बाद सोमवार को ट्रेप रचा गया और पीड़िता छात्रा सीता सैनी से दो हजार रुपए की रिश्वत लेते वक्त एसीबी ने कॉलेज के डायरेक्टर सुनील कुमार शर्मा को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। उससे रिश्वत की रकम बरामद कर ली।

 

 

About Anil Gupta

Check Also

जमीन के विवाद में खूनी संघर्ष में हुए नौ घायल, 5 को किया रैफर

मनोहर कुमार पारीक  अजीतगढ़ (सीकर)। यहां के एक गांव में शुक्रवार को हुए खूनी संघर्ष …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *