करोड़ों के घोटाले का आरोपी चिराग पटेल की धरपकड़

जितेन्द्र वर्मा

अहमदाबाद. व्हीकल ब्लॉक बुकिंग के नाम पर 15 करोड़ रुपए की चिटिंग करने के मामले में क्राइम ब्रांच ने चिराग पटेल की धरपकड़ की है। इस गिरफ्तारी के बाद उच्च वर्ग में उसकी पहचान को लेकर काफी चर्चा है। एक तरफ उसकी तस्वीर सांसद परेश रावल के साथ है, तो दूसरी तरफ एयरपोर्ट अथारिटी कमिटी के सदस्य के रूप में उसका नाम भी चर्चा में है।

ऑटो मोबाइल के धंधे में घोटाले का आरोप
पालड़ी में रहने वाले कल्पेश नटवर लाल अखाड़ी ने क्राइम ब्रांच में गुरुवार को प्रियंक अगोला, उसके पिता अमृत अगोला और उसके पार्टनग चिराग पटेल के खिलाफ शिकायत की थी। इन तीनों के खिलाफ ऑटो मोबाइल्स के धंधे में पूंजी निवेश के नाम पर 2012 से 2016 तक कुल 15 करोड़ रुपए प्राप्त किए। चिराग कार टू व्हीलर की एडवांस बुकिंग कर उसे ऑन में बेचने का धंधा करता है, यह बताते हुए निवेशकों से अपने लाभ पर 4 प्रतिशत का मुनाफा देने का लालच देता।

चिराग तहसील पंचायक के पूर्व अध्यक्ष का बेटा है
दसक्रोई तहसील पंचायत के पूर्व अध्यक्ष के बेटे चिराग पटेल की धरपकड़ होते ही तीन और लोगों के खिलाफ 1.30 करोड़ की ठगी की शिकायत दर्ज कराई गई है। इस घोटालेे का शिकार बनने वाले सैकड़ों निवेशकों के अनुसार यह घोटाला करीब 1200 करोड़ का हो सकता है। इस घोटाले में भाजपा के एक कद्दावर नेता आरोपी का पार्टनर है। चिराग ने आरटीओ में भी बड़ा घोटाला किया है, ऐसा जांच में सामने आया है। इसमें डिमांड किे अनुसार वह टू व्हीलर के 3 हजार और 4 हजार रुपए का भुगतान कर ऑन एजेंसी को ब्लॉक यानी बुक कराता। इसके बाद कोई ग्राहक आए, तो उससे ऑन से अधिक धनराशि वसूल कर वाहन बेचता।

About Anil Gupta

Check Also

जमीन के विवाद में खूनी संघर्ष में हुए नौ घायल, 5 को किया रैफर

मनोहर कुमार पारीक  अजीतगढ़ (सीकर)। यहां के एक गांव में शुक्रवार को हुए खूनी संघर्ष …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *