Breaking News

टैक्नोलॉजी क्षेत्र में है सबसे ज्यादा नौकरियां

दुनिया की सबसे बड़ी करियर नेटवर्किंग साइट लिंक्डइन ने एक सर्वे किया जिसमें बताया गया है कि भारत में 10 सबसे तेजी से बढ़ती नौकरियों में से 8 नौकरियां टैक्नोलॉजी क्षेत्र में है। बता दें, ये सर्वे भारत में लाखों लिंक्डइन मेंबर्स के 2013 और 2017 के बीच डेटा के विश्लेषण पर आधारित है। वहीं इस सर्वे के आने के बाद इस बात पर जोर दिया जा रहा है कि भारत में अब नौकरी के क्षेत्र में इंजीनियरिंग क्षेत्र अपने पैर पसार रहा है। साथ ही ये एक बदलाव लेकर आ रहा है जिसमें उन उम्मीदवारों को नौकरी मिलने के आसार बढ़ गए हैं जो टैक्नोलॉजी क्षेत्र से हैं। वहीं आपको बता दें, लगभग एक दशक पहले, सॉफ्टवेयर इंजीनियर और बिजनेस एनालिस्ट को ही खास नौकरी माना जाता था या यूं कहे इस क्षेत्र के लोगों की नौकरी को प्रमुख खिताब दिया जाता था।

सर्वे में कहा गया है कि-भारत में, कई बिजनेस बड़े डेटा और डिजिटल प्रोडक्ट्स पर फोकस करने लगे हैं। बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विस और बीमा (BFSI), मैन्युफैक्चरिंग, मीडिया और एंटरनेमेंट, प्रोफेशनल सर्विस, रिटेल एंड कस्टमर प्रोडक्ट्स और टैक्नॉलोजी सॉफ्टवेयर में ग्रोथ बढ़ाने के लिए  टेक्नॉलोजी की आवश्यकता है इसलिए अब मार्कीट में मशीन-लर्निंग इंजीनियरों और डेटा साइंटिस्ट की भारी मांग है।

लिंक्डइन की रिपोर्ट, जो कि माइक्रोसॉफ्ट का हिस्सा है, यह भी दिखाती है कि जब मशीन-लर्निंग और डेटा साइंटिस्ट नौकरियों के लिए योग्यता की बात आती है, तो आधे से अधिक नए कर्मचारियों के पास सिर्फ एक बैचलर डिग्री होती है जिसका मतलब है कि कंपनियां उन्हें नौकरी के दौरान ही प्रशिक्षित करती हैं। वहीं फर्मों को उच्च योग्यता वाले उन उम्मीदवारों को ढूंढने में परेशानी आती है जो काम के लिए तैयार होते हैं।

अगर अमरीका से तुलना करें तो लगभग 17%  ग्रेजुएट ऐसे छात्र है जो इन टैक्नोलॉजी क्षेत्र की नौकरियों को करते हैं और अपनी डॉक्टरेट की डिग्री को होल्ड पर रखते हैं। उन्होंने रिपोर्ट में कहा कि आंकड़ों के अनुसार ने शहरों में डेटा साइंटिस्ट की मांग की है जिसमें मुंबई और दिल्ली/ एनसीआर में इन पदों के लिए प्रतिस्पर्धा देखने को मिल रही है।

आपको बता दें, भारत सिंगापुर के लिए डेटा साइंटिस्ट और साइबर सिक्योरिटी स्पेशलिस्ट सबसे बड़ा सप्लायर भी है। लिंक्डइन ने कहा कि 2017 के बाद से, सिंगापुर में स्थानांतरित होने वाले 22 प्रतिशत डेटा साइंटिस्ट भारत से आए थे। वहीं रिपोर्ट में कहा गया है कि लोगों की नियुक्ति उनकी पिछली नौकरी को देखते हुए नहीं बल्कि उनके स्किल्स और काम करने के तरीके को देखकर दी जाएगी। वहीं इस सर्वे में दिलचस्प बात ये है कि टॉप-5 नौकरियों में सभी नौकरियां टेक्नोलॉजी क्षेत्र की है।

About Anil Gupta

Check Also

60000 कमाने का मौका, 8वीं पास भी कर सकते है आवेदन

नई दिल्ली : असम विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड ने असिस्टेंट, सहायक, माली, ऑफिसर एवं ड्राइवर के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *